वह स्थान मंदिर है, जहाँ पुस्तकों के रूप में मूक, किन्तु ज्ञान की चेतनायुक्त देवता निवास करते हैं। - आचार्य श्रीराम शर्मा
कृपया दायीं तरफ दिए गए 'हमारे प्रशंसक' लिंक पर क्लिक करके 'अपनी हिंदी' के सदस्य बनें और हिंदी भाषा के प्रचार-प्रसार में अपना योगदान दें। सदस्यता निशुल्क है।
Flipkart.com

मंगलवार, 24 अप्रैल 2012

'आधुनिक यमलोक' - हास्य-प्रधान नाटक







'आधुनिक यमलोक' एक हास्य-प्रधान नाटक है जिसमे आज की भ्रष्ट व्यवस्था पर प्रहार किया गया है। यह डॉ. कैलाश चन्द्र शर्मा का लिखा हुआ नाटक है.

टाइगर, सितारा देवी, मूमल देवी, किस्मती आदि पत्रों का सुन्दर और बेजोड़ चित्रण किया गया है.

 इसे हमें झाँसी से गोपाल कश्यप ने भेजा है.

अवश्य पढ़ें ।

फाइल का आकार:
३ Mb



डाउनलोड लिंक :

(निम्न में से कोई भी एक क्लिक करें . अगर कोई लिंक काम नहीं कर रहा है तो अन्य लिंक प्रयोग करके देखें.)
(डाउनलोड करने में कोई परेशानी हो या डाउनलोड करना नहीं आता तो कृपया यहाँ क्लिक करें)


2Shared:
Click here

PutLocker:
Click Here


Deposit Files:
Click Here

Rapidshare:
Click Here

Ziddu:
Click Here



Multi-Mirror Download Link:
Click Here



(डाउनलोड करने में कोई परेशानी हो तो कृपया यहाँ क्लिक करें)
ये पुस्तक आपको कैसी लगी? कृपया अपनी टिप्पणियां अवश्य दें।






[ Keywords: Free hindi books, Free hindi ebooks, Free hindi stories, Hindi stories pdf, Hindi PDF Books, Hindi sahitya , Hindi kahani,    Hindi e books, Hindi e book, free hindi novels, Hindi Text Book, Download O. Henery Stories in hindi for free Rapidshare, Hotfile, Megaupload, Filesonic Links for Hindi Downloads ]

6 टिप्पणियां:

संजय अग्निहोत्री on 26/4/12 9:59 am ने कहा…

'आधुनिक यमलोक' पहले से ही अपनी हिंदी प्रकाशित था उसे पुन: प्रकाशित करने का औचित्य समझ में नहीं आया ?
क्षमा याचना केसाथ


संजय अग्निहोत्री

Admin ने कहा…

सभी पुरानी पुस्तकों को नए लिंक्स, नयी साज-सज्जा और आवश्यकतानुसार नए विवरण के साथ पुन: प्रकाशित किया जा रहा है.

-admin

dr kailash chandra sharma on 24/5/12 2:13 pm ने कहा…

मैं आधुनिक यमलोक का लेखक डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा गोपाल कश्यप जी को अभिवादन करते हुए उनका आभार व्यक्त करता हूँ, इस बात के लिए कि उन्होंने मेरे नाटक को पढ़कर अपनी प्रतिक्रिया लिखी . इस नाटक का पहला प्रयोग नवम्बर ११९७ में मेरे निर्देशन में रवीन्द्र मंच जयपुर पर किया गया . अब तक अनेक बार मंचन हुआ है पर इसे मंचित करना साहस का काम है . मैंने अपने डी.लिट. के शोध प्रबंध में इस नाटक को प्रमुखता से समाहित किया है . नाट्य संस्थाओं एवम निर्देशकों से अपील है कि मेरी अनुमति लेकर इसकी मंचीय प्रस्तुतियां करें . मेरा पता है - डॉ कैलाश चन्द्र शर्मा द्वारा त्रिवेणी कला संगम , बी १७७ नित्यानंद नगर , queens रोड जयपुर-३०२०२१ . ई मेल- trivenikalasangam@gmail.com . cell 08600043066. मैं अभी पंजाब नेशनल बैंक धुलिया महाराष्ट्र में सीनियर ओडिटर के पद पर कार्यरत हूँ . आदरनीय गोपाल कश्यप जी को दोबारा अभिवादन .

विनीत
डॉ. कैलाश चन्द्र शर्मा

abhi on 10/7/12 2:04 am ने कहा…

काफी अच्छी वेबसाइट है

sunil on 6/8/12 7:22 pm ने कहा…

aap bahut achha kam kar rhe hain.. dhanyawad

MAN MOHAN SINGH on 29/12/12 8:04 pm ने कहा…

mai cahta hu ki aap ase hi kaam karte rahe kuki mai chta hu ki jis tarike se english bolo jati hai vaise hindi bolo jaaye

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियां हमारी अमूल्य धरोहर है। कृपया अपनी टिप्पणियां देकर हमें कृतार्थ करें ।

Blogger Tips And Tricks|Latest Tips For Bloggers Free Backlinks

Deals of the Day

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में

 

ताजा पोस्ट:

लेबल

कहानी उपन्यास कविता धार्मिक इतिहास प्रेमचंद जीवनी विज्ञान सेहत हास्य-व्यंग्य शरत चन्द्र तिलिस्म बाल-साहित्य ज्योतिष मोपांसा देवकीनंदन खत्री पुराण बंकिम चन्द्र वीडियो हरिवंश राय बच्चन अनुवाद देशभक्ति प्रेरक यात्रा-वृतांत दिनकर यशपाल विवेकानंद ओ. हेनरी कहावतें धरमवीर भारती नन्दलाल भारती ओशो किशोरीलाल गोस्वामी कुमार विश्वास जयशंकर प्रसाद महादेवी वर्मा संस्मरण अमृता प्रीतम जवाहरलाल नेहरु पी.एन. ओक रहीम रांगेय राघव वृन्दावनलाल वर्मा हरिशंकर परसाई अज्ञेय इलाचंद्र जोशी कृशन चंदर गुरुदत्त चतुरसेन जैन भारतेन्दु हरिश्चन्द्र मन्नू भंडारी मोहन राकेश रबिन्द्रनाथ टैगोर राही मासूम रजा राहुल सांकृत्यायन शरद जोशी सुमित्रानंदन पन्त असग़र वजाहत उपेन्द्र नाथ अश्क कालिदास खलील जिब्रान चन्द्रधर शर्मा गुलेरी तसलीमा नसरीन फणीश्वर नाथ रेणु

ताजा टिप्पणियां:

अपनी हिंदी - Free Hindi Books | Novel | Hindi Kahani | PDF | Stories | Ebooks | Literature Copyright © 2009-10. A Premium Source for Free Hindi Books

;