वह स्थान मंदिर है, जहाँ पुस्तकों के रूप में मूक, किन्तु ज्ञान की चेतनायुक्त देवता निवास करते हैं। - आचार्य श्रीराम शर्मा
कृपया दायीं तरफ दिए गए 'हमारे प्रशंसक' लिंक पर क्लिक करके 'अपनी हिंदी' के सदस्य बनें और हिंदी भाषा के प्रचार-प्रसार में अपना योगदान दें। सदस्यता निशुल्क है।
Flipkart.com

गुरुवार, 15 दिसंबर 2011

पर्वत राग का लीलाधर जगूड़ी विशेषांक

     
पर्वत राग का लीलाधर जगूड़ी विशेषांककला, संस्कृति व साहित्य को समर्पित पत्रिका पर्वत राग का बहुप्रतीक्षित लीलाधर जगूड़ी विशेषांक प्रकाशित हो गया है। इस अंक में लीलाधर जगूड़ी के व्यक्तित्व व कृतित्व पर उनके समकालीन लेखकों व अन्य शब्द- शिल्पियों ने बहुमूल्य सामग्री दी है। साथ ही लीलाधर जगूड़ी से विभिन्न लेखकों द्वारा लिए गए बेबाक साक्षात्कार भी हैं । इस अंक में लीलाधर जगूड़ी के व्यक्तित्व व कृतित्व पर जिन प्रमुख लेखकों की रचनाएं पर्वत राग में शामिल हैं, उनमें कुंवर नारायण, मुद्रा राक्षस, गिरधर राठी, मंगलेश डबराल,राजेश जोशी,  अरुण कमल, विजय कुमार, विष्णु नागर, नरेन्द्र मोहन सत्यपाल सहगल, मदन कश्यप, ओम निश्चल, अनूप सेठी, रेवती रमण ,अग्निशेखर,  अवधेश प्रीत, शिरीष कुमार मौर्य, मधुकर भारती, महेश चंद्र पुनेठा, नवनीत शर्मा, प्रेम साहिल, अमित तरव, सुरेश उनियाल, नवीन चंद्र लोहनी, सुधीर महाजन, ओम नागर, शशिभूषण बडोनी, विपिन कुमार शर्मा ,मोनू सिंह व नीलम प्रभा वर्मा शामिल हैं।
    इसके अलावा इस अंक में गीताश्री, भरत प्रसाद, लाल्टू, कुलदीप शर्मा, के.आर.भारती, प्रतिभा कटियार, लीना मल्होत्रा, भूपिन्द्र कौर प्रीत, शरवाणी बैनर्जी व गुरमीत बेदी की कविताएं, संतोष शैलजा की लघु उपन्यासिका, डा. तारिक कमर, गौतम राजरिशी व अखिलेश तिवारी की गजलें हैं। पर्वत राग के इस विशेषांक का मूल्य नब्बे रूपए है। पंजीकृत डाक से मंगवाने के लिए 36 रूपए अलग से जोड़ने होंगे। 
          रचनाकारों के अलावा पर्वत राग के आजीवन व वार्षिक सदस्यों को अंक की मुद्रित प्रति डाक से भेजी जा रही है। आपकी बहुमूल्य राय का इंतजार रहेगा।
इंटरनेट पर पर्वत राग का लीलाधर जगूड़ी विशेषांक पढ़ने के लिए  www.parvatraag.com पर क्लिक करें- 
संपादक, पर्वत राग,सैट नंबर- 8, टाईप- 4,
डीसी कालोनी, ऊना- 174303
हिमाचल प्रदेश  

1 टिप्पणियां:

बेनामी ने कहा…

shreeman, apka bahut bahut dhanyabad is site ke liye,maine abtak 50 books downlaod kar li hain 2 din mein lekin yeh wali kitab nahin ho rahi hai,salah den
mahendra , jabalpur

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियां हमारी अमूल्य धरोहर है। कृपया अपनी टिप्पणियां देकर हमें कृतार्थ करें ।

Blogger Tips And Tricks|Latest Tips For Bloggers Free Backlinks

Deals of the Day

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में

 

ताजा पोस्ट:

लेबल

कहानी उपन्यास कविता धार्मिक इतिहास प्रेमचंद जीवनी विज्ञान सेहत हास्य-व्यंग्य शरत चन्द्र तिलिस्म बाल-साहित्य ज्योतिष मोपांसा देवकीनंदन खत्री पुराण बंकिम चन्द्र वीडियो हरिवंश राय बच्चन अनुवाद देशभक्ति प्रेरक यात्रा-वृतांत दिनकर यशपाल विवेकानंद ओ. हेनरी कहावतें धरमवीर भारती नन्दलाल भारती ओशो किशोरीलाल गोस्वामी कुमार विश्वास जयशंकर प्रसाद महादेवी वर्मा संस्मरण अमृता प्रीतम जवाहरलाल नेहरु पी.एन. ओक रहीम रांगेय राघव वृन्दावनलाल वर्मा हरिशंकर परसाई अज्ञेय इलाचंद्र जोशी कृशन चंदर गुरुदत्त चतुरसेन जैन भारतेन्दु हरिश्चन्द्र मन्नू भंडारी मोहन राकेश रबिन्द्रनाथ टैगोर राही मासूम रजा राहुल सांकृत्यायन शरद जोशी सुमित्रानंदन पन्त असग़र वजाहत उपेन्द्र नाथ अश्क कालिदास खलील जिब्रान चन्द्रधर शर्मा गुलेरी तसलीमा नसरीन फणीश्वर नाथ रेणु

ताजा टिप्पणियां:

अपनी हिंदी - Free Hindi Books | Novel | Hindi Kahani | PDF | Stories | Ebooks | Literature Copyright © 2009-10. A Premium Source for Free Hindi Books

;