वह स्थान मंदिर है, जहाँ पुस्तकों के रूप में मूक, किन्तु ज्ञान की चेतनायुक्त देवता निवास करते हैं। - आचार्य श्रीराम शर्मा
कृपया दायीं तरफ दिए गए 'हमारे प्रशंसक' लिंक पर क्लिक करके 'अपनी हिंदी' के सदस्य बनें और हिंदी भाषा के प्रचार-प्रसार में अपना योगदान दें। सदस्यता निशुल्क है।
Flipkart.com

सोमवार, 4 जून 2012

विराटा की पद्मिनी


'विराटा की पद्मिनी' (virata ki padmini) श्री वृंदावनलाल वर्मा का एक अमर ऐतिहासिक उपन्यास है ।


वृंदावनलाल वर्मा ऐतिहासिक कहानीकार एवं लेखक के रूप में प्रसिद्ध हैं। बुन्देलखंड का मध्यकालीन इतिहास इनके कथा का मुख्य आधार है। घटना की विचित्रता, प्रकृति-चित्रण और मानव-प्रकृति के ये सफल चितेरे थे। इनका जन्म ९ जनवरी १८८९ ई० को मऊरानीपुर झाँसी (उत्तर प्रदेश) में हुआ था। पिता का नाम अयोध्या प्रसाद था।

पौराणिक तथा ऐतिहासिक कथाओं के प्रति बचपन से ही इनकी रुचि थी। प्रारम्भिक शिक्षा भिन्न-भिन्न स्थानो पर हुई। बी.ए. पास करने के बाद इन्होंने कानून की परीक्षा पास की और झाँसी में वकालत करने लगे। १९०९ ई० में 'सेनापति ऊदल' नामक नाटक छपा जिसे तत्कालीन सरकार ने जब्त कर लिया। १९२० ई० तक छोटी छोटी कहानियाँ लिखते रहे। १९२७ ई० में गढ़ कुण्डार दो महीने में लिखा। १९३० ई० में विराटा की पद्मिनी लिखा। अपनी साहित्यिक सेवाओं के लिए वृंदावनलाल वर्मा को आगरा विश्वविद्यालय द्वारा डी.लिट्. की उपाधि से सम्मानित किया गया।

अवश्य पढ़ें।




डाउनलोड लिंक :

(निम्न में से कोई भी एक क्लिक करें . अगर कोई लिंक काम नहीं कर रहा है तो अन्य लिंक प्रयोग करके देखेंडाउनलोड करने में कोई परेशानी हो या डाउनलोड करना नहीं आता तो कृपया यहाँ क्लिक करें)


SendMyWay:
Click here

DepositFiles:
Click Here


JumboFiles:
Click Here

Rapidshare:
Click Here

Ziddu:
Click Here



Multi-Mirror Download Link:
Click Here



(डाउनलोड करने में कोई परेशानी हो तो कृपया यहाँ क्लिक करें)
ये पुस्तक आपको कैसी लगी? कृपया अपनी टिप्पणियां अवश्य दें।


अगर आपको ये पुस्तक पसंद आई हो तो इसे नीचे दिए गए लिंक से फेसबुक  पर लाइक  करें!




[ Keywords: Free hindi books, Free hindi ebooks, Free hindi stories, Hindi stories pdf, Hindi PDF Books, Hindi sahitya , Hindi kahani, Hindi e books, Hindi e book, free hindi novels, Hindi Text Book, Amrita preetam Books ]

11 टिप्पणियां:

बेनामी ने कहा…

thank you.

Arvind Mishra on 6/10/11 10:16 pm ने कहा…

वृन्दावन लाल वर्मा और आचार्य चतुरसेन शास्त्री पौराणिक ऐतिहासिक दस्तानों के चतुर चितेरे हैं -विराट की पद्मिनी से परिचय कराने के लिए आभार !

Akshay kumar ojha on 7/10/11 5:36 pm ने कहा…

इस पुस्तक को हमारे साथ बाटने के लिए धन्यवाद्

बेनामी ने कहा…

धन्यवाद्

बेनामी ने कहा…

aaj maine pahli bar yeh site open ki hain aur main is se kafi prabhavit huva hun. shukriyaaaaaaa...........

Chintan on 4/1/12 5:26 pm ने कहा…

please upload Mrignayani from V L Verma . On this novel, a teleserial featuring Pallavi Joshi and Mohan Bhandari was also aired on Doordarshan

harish ने कहा…

thanks for a great job.
jai hind

दिपेन्दर कौर ने कहा…

इस पुस्तक को पाठकों तक पहुँचाने के लिए धन्यवाद .

दिपेन्दर कौर ने कहा…

Please upload some novels of Malti Joshi ji and Shivani ji.

Sunil Kumar Dubey on 14/10/12 11:02 pm ने कहा…

कृपया अपने पुराने अपलोद किये गए लिंक्स को अपडेट करें। धन्यवाद

Vipin Gautam on 14/2/16 11:48 pm ने कहा…

This story is always good, i have read this book multiple times. I read this for the first time when i was 13, I still like reading this when i am 28.

Thanks for putting this online my paper book is missing multiple pages now.

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियां हमारी अमूल्य धरोहर है। कृपया अपनी टिप्पणियां देकर हमें कृतार्थ करें ।

Blogger Tips And Tricks|Latest Tips For Bloggers Free Backlinks

Deals of the Day

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में

 

ताजा पोस्ट:

लेबल

कहानी उपन्यास कविता धार्मिक इतिहास प्रेमचंद जीवनी विज्ञान सेहत हास्य-व्यंग्य शरत चन्द्र तिलिस्म बाल-साहित्य ज्योतिष मोपांसा देवकीनंदन खत्री पुराण बंकिम चन्द्र वीडियो हरिवंश राय बच्चन अनुवाद देशभक्ति प्रेरक यात्रा-वृतांत दिनकर यशपाल विवेकानंद ओ. हेनरी कहावतें धरमवीर भारती नन्दलाल भारती ओशो किशोरीलाल गोस्वामी कुमार विश्वास जयशंकर प्रसाद महादेवी वर्मा संस्मरण अमृता प्रीतम जवाहरलाल नेहरु पी.एन. ओक रहीम रांगेय राघव वृन्दावनलाल वर्मा हरिशंकर परसाई अज्ञेय इलाचंद्र जोशी कृशन चंदर गुरुदत्त चतुरसेन जैन भारतेन्दु हरिश्चन्द्र मन्नू भंडारी मोहन राकेश रबिन्द्रनाथ टैगोर राही मासूम रजा राहुल सांकृत्यायन शरद जोशी सुमित्रानंदन पन्त असग़र वजाहत उपेन्द्र नाथ अश्क कालिदास खलील जिब्रान चन्द्रधर शर्मा गुलेरी तसलीमा नसरीन फणीश्वर नाथ रेणु

ताजा टिप्पणियां:

अपनी हिंदी - Free Hindi Books | Novel | Hindi Kahani | PDF | Stories | Ebooks | Literature Copyright © 2009-10. A Premium Source for Free Hindi Books

;