वह स्थान मंदिर है, जहाँ पुस्तकों के रूप में मूक, किन्तु ज्ञान की चेतनायुक्त देवता निवास करते हैं। - आचार्य श्रीराम शर्मा
कृपया दायीं तरफ दिए गए 'हमारे प्रशंसक' लिंक पर क्लिक करके 'अपनी हिंदी' के सदस्य बनें और हिंदी भाषा के प्रचार-प्रसार में अपना योगदान दें। सदस्यता निशुल्क है।
Flipkart.com

शनिवार, 16 जून 2012

भारत के जनप्रिय सम्राट



'भारत के जनप्रिय सम्राट' पुस्तक में लेखक फणीन्द्र नाथ चतुर्वेदी ने भारत के उन सम्राटो का संक्षिप्त वर्णन किया है जो जनता में अत्यधिक् लोकप्रिय रहे है .

पुस्तक में कुल २१ शासकों के बारे में बताया गया है . इनकी सूची नीचे चित्र में दी जा रही है :


जैसे की राजा भोज परमार . परमार भोज परमार वंश के नवें राजा थे। परमार (पवार(हिन्दी)/ पोवार(मराठी)) वंशीय राजाओं ने मालवा की राजधानी धारानगरी से आठवीं शताब्दी से लेकर चौदहवीं शताब्दी के पूर्वार्ध तक राज्य किया था। भोज ने बहुत से युद्ध किए और अपनी प्रतिष्ठा स्थापित की जिससे सिद्ध होता है कि उसमें असाधारण योग्यता थी।

यद्यपि उसके जीवन का अधिकांश युद्धक्षेत्र में बीता तथापि उसने अपने राज्य की उन्नति में किसी प्रकार की बाधा न उत्पन्न होने दी। उसने मालव के नगरों व ग्रामों में बहुत से मंदिर बनवाए, यद्यपि उनमें से अब बहुत कम का पता चलता है।

वह स्वयं बहुत विद्वान था और कहा जाता है कि उसने धर्म, खगोल विद्या, कला, कोशरचना, भवननिर्माण, काव्य, औषध-शास्त्र आदि विभिन्न विषयों पर पुस्तकें लिखी हैं जो अब भी वर्तमान हैं। इसके समय में कवियों को राज्य से आश्रय मिला था। इसने सन् 1000 ई. से 1055 ई. तक राज्य किया। सरस्वतीकंठाभरण उनकी प्रसिद्ध रचना है।


 फाइल का आकार: 5 Mb

डाउनलोड लिंक :
(निम्न में से कोई भी एक क्लिक करें . अगर कोई लिंक काम नहीं कर रहा है तो अन्य लिंक प्रयोग करके देखेंडाउनलोड करने में कोई परेशानी हो या डाउनलोड करना नहीं आता तो कृपया यहाँ क्लिक करें)


SendMyWay:
Click here

DepositFiles:
Click Here


BayFiles:
Click Here

PutLocker:
Click Here

Ziddu:
Click Here


Multi-Mirror Download Link:
Click Here


(डाउनलोड करने में कोई परेशानी हो तो कृपया यहाँ क्लिक करें)
ये पुस्तक आपको कैसी लगी? कृपया अपनी टिप्पणियां अवश्य दें।


अगर आपको ये पुस्तक पसंद आई हो तो इसे नीचे दिए गए लिंक से फेसबुक  पर लाइक  करें!


[ Keywords: Free hindi books, Free hindi ebooks, Free hindi stories, Hindi stories pdf, Hindi PDF Books, Hindi sahitya , Hindi kahani, Hindi e books, Hindi e book, free hindi novels, Hindi Text Book, Premchand ghar mein free hindi book download]


3 टिप्पणियां:

बेनामी ने कहा…

श्रीमान, मेरा आपसे विनम्र निवेदन है की आप द्वारा लिखी गयी पुस्तक की 21 सम्राटो की सूचि में सम्राट पृथ्वीराज चौहान का नाम नहीं होना बड़ा ही आश्चर्य जनक है. जबकि अबके द्वारा अपनी सूचि में सिकंदर जैसे विदेशी आक्रान्ता को स्थान दिया गया है. जबकि यह सर्व विदित है की सिकन्दर भारत का कभी सम्राट नहीं रहा.

बेनामी ने कहा…

namaste sir main sameer gauri gauri from kota rajasthan se. sir main kafi der se BHARAT KE JANPRIYE SAMRAT ko download karne ki koshish kar rhaa hun parantu aapka downloder link open nahin ho rha hai, please ise jara check karen. agar sambhav ho to please ise mere mail par bhejne ka kast karenge to mehabaani hogi, thanks
email:zindgi.live@yahoo.co.in

बेनामी ने कहा…

link download nahi ho rahi

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियां हमारी अमूल्य धरोहर है। कृपया अपनी टिप्पणियां देकर हमें कृतार्थ करें ।

Blogger Tips And Tricks|Latest Tips For Bloggers Free Backlinks

Deals of the Day

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में

 

ताजा पोस्ट:

लेबल

कहानी उपन्यास कविता धार्मिक इतिहास प्रेमचंद जीवनी विज्ञान सेहत हास्य-व्यंग्य शरत चन्द्र तिलिस्म बाल-साहित्य ज्योतिष मोपांसा देवकीनंदन खत्री पुराण बंकिम चन्द्र वीडियो हरिवंश राय बच्चन अनुवाद देशभक्ति प्रेरक यात्रा-वृतांत दिनकर यशपाल विवेकानंद ओ. हेनरी कहावतें धरमवीर भारती नन्दलाल भारती ओशो किशोरीलाल गोस्वामी कुमार विश्वास जयशंकर प्रसाद महादेवी वर्मा संस्मरण अमृता प्रीतम जवाहरलाल नेहरु पी.एन. ओक रहीम रांगेय राघव वृन्दावनलाल वर्मा हरिशंकर परसाई अज्ञेय इलाचंद्र जोशी कृशन चंदर गुरुदत्त चतुरसेन जैन भारतेन्दु हरिश्चन्द्र मन्नू भंडारी मोहन राकेश रबिन्द्रनाथ टैगोर राही मासूम रजा राहुल सांकृत्यायन शरद जोशी सुमित्रानंदन पन्त असग़र वजाहत उपेन्द्र नाथ अश्क कालिदास खलील जिब्रान चन्द्रधर शर्मा गुलेरी तसलीमा नसरीन फणीश्वर नाथ रेणु

ताजा टिप्पणियां:

अपनी हिंदी - Free Hindi Books | Novel | Hindi Kahani | PDF | Stories | Ebooks | Literature Copyright © 2009-10. A Premium Source for Free Hindi Books

;