वह स्थान मंदिर है, जहाँ पुस्तकों के रूप में मूक, किन्तु ज्ञान की चेतनायुक्त देवता निवास करते हैं। - आचार्य श्रीराम शर्मा
कृपया दायीं तरफ दिए गए 'हमारे प्रशंसक' लिंक पर क्लिक करके 'अपनी हिंदी' के सदस्य बनें और हिंदी भाषा के प्रचार-प्रसार में अपना योगदान दें। सदस्यता निशुल्क है।
Flipkart.com

शुक्रवार, 16 सितंबर 2011

घरेलु इलाज

आजकल के दौर में जब अन्य इलाज महंगे हो गए है, 'घरेलु  इलाज' बेहतरीन विकल्प है. 'घरेलु इलाज' एक उपयोगी पुस्तक है. इसमें विभिन्न बीमारियों से सम्बंधित घरेलु इलाज दिए गए ही जो गुणकारी और निरापद है. इसके अलावा ये उपाय प्राथमिक चिकित्सा  के तौर पर भी काम में लिए जा सकते है.

हर घर में ये पुस्तक अवश्य होनी चाहिए .


घरेलु इलाज के कुछ उदाहरण :
हिचकी
· यदि किसी को हिचकी आ रही हो तो दो चम्मच प्याज के रस में दो चम्मच ही शहद मिलाकर चाटने से हिचकी आनी बन्द हो जाती है।

जी मिचलाना
· तुलसी रस का एक छोटा चम्मच पी जाएँ, या शहद मिलाकर चाटने से जी मिचलना बंद हो जाएगा।
· जीरे को नींबू के रस में भिंगोकर नमक मिलाकर खटाई का जीरा बनाएं। जी मिचलाने पर या गर्भवती स्त्री के जी मिचलाने या उबकाई आदि में यह चूर्ण खाना विशेष लाभदायक है।

पेट दर्द· यदि पेट दर्द हो रहा हो तो काली मिर्च, हींग, सोठ तीनों को बराबर मात्रा में लेकर बारीक पीस कर आधा चम्मच फांक कर ऊपर से गुनगुने पानी से लेने से पेट दर्द से तुरंत राहत मिलती है।
· अदरक के रस में नींबू का रस, काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर पीने से पेट दर्द गायब हो जाता है।

अनिद्रा
· सेब का मुरब्बा सोने से पहले खाएं तो अच्छी नींद आएगी। सेब खाकर सोने से भी अच्छी नींद आती है।
· सोने से पहले शहद गर्म पानी में घोलकर पीयें, भरपूर नींद आयेगी।



सेहत/चिकित्सा/आयुर्वेद सबंधी अन्य पुस्तकें डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:
Ayurveda Books



 फाइल का आकार: 2 Mb




डाउनलोड लिंक(Megaupload) :
कृपया यहाँ क्लिक करें




डाउनलोड लिंक :(Multi Mirror)
कृपया यहाँ क्लिक करें






(डाउनलोड करने में कोई परेशानी हो तो कृपया यहाँ क्लिक करें)
ये पुस्तक आपको कैसी लगी? कृपया अपनी टिप्पणियां अवश्य दें।

अगर आपको ये पुस्तक पसंद आई हो तो इसे नीचे दिए गए लिंक से फेसबुक  पर लाइक  करें!




Hindi Novel
Hindi PDF
Hindi Kahani 
Download Gharelu ILaaj  Free Hindi Books

10 टिप्पणियां:

प्रवीण पाण्डेय on 16/9/11 10:07 pm ने कहा…

आभार..

Rahulabhyasi on 17/9/11 12:22 am ने कहा…

Respected Sir/Madam

First of all i beg your pardon because i dont have facility in my computer to write in Hindi,
I am mentioning some name of books written by Rahul Sankrityayan please upload these books ,these will be helpfull for thousands of readers like myself.

Regards

Rahul Tiwari

In Hindi
Novels

Baisvin Sadi - 1923
Jine ke Liye - 1940
Simha Senapathi - 1944
Jai Yaudheya - 1944
Bhago Nahin, Duniya ko Badlo - 1944
Madhur Svapna - 1949
Rajasthani Ranivas - 1953
Vismrit Yatri - 1954
Divodas - 1960
Vismriti Ke Garbh Me
Kinner Desh

Short Stories

Satmi ke Bachche - 1935
Volga Se Ganga - 1944
Bahurangi Madhupuri - 1953
Kanaila ki Katha - 1955-56

Autobiography

Meri Jivan Yatra I - 1944
Meri Jivan Yatra II - 1950
Meri Jivan Yatra III, IV, V - published posthumously

Biography

Sardar Prithvi Singh - 1955
Naye Bharat ke Naye Neta (2 volumes) - 1942
Bachpan ki Smritiyan - 1953
Atit se Vartaman (Vol I) - 1953
Stalin - 1954
Lenin - 1954
Karl Marx - 1954
Mao-Tse-Tung - 1954
Ghumakkar Swami - 1956
Mere Asahayog ke Sathi - 1956
Jinka Main Kritajna - 1956
Vir Chandrasingh Garhwali - 1956
Simhala Ghumakkar Jaivardhan - 1960
Kaptan Lal - 1961
Simhal ke Vir Purush - 1961
Mahamanav Budha - 1956

Some of his other books are:-

Mansik Gulami
Rhigvedic Arya
Ghumakkar Shastra
Kinnar desh mein
Darshan Digdarshan
Dakkhini Hindi ka Vyaakaran
Puratatv Nibandhawali
Manava Samaj

[edit] In Bhojpuri

Teen Natak - 1942
Panch Natak - 1942
[edit] In Nepali (Translation)
Bauddhadharnma Darshan - 1984

[edit] Related to Tibetan

Tibbati Bal-Siksha - 1933
Pathavali (Vol. 1,2 & 3) - 1933
Tibbati Vyakaran (Tibetan Grammar) - 1933
Tibbat May Budh Dharm-1948
Lhasa ki or

बेनामी ने कहा…

sari kahania AND OTHER BOOKS best hai. this site is also the best ever site. thank u and jai hind. SORRY hindi typing is not available,.

बेनामी ने कहा…

mujhe kabse esi site ki talash thi jaha hamari hindi ki book mil jae or ab ye talash khatm ho gai hai thanx for all books

sunil on 10/9/12 8:34 pm ने कहा…

downloding links not working

Rajesh Juneja on 24/9/12 10:04 am ने कहा…

the downloading links are not working....please reupload it...thankx

Azad Anil on 24/9/12 5:11 pm ने कहा…


gurudat ke upanyas kam hen
downloading ki samasya he
ms word me file dene se kam pejo me
print ho sakti he
azad anil

Azad Anil on 24/9/12 5:14 pm ने कहा…

gurudat ke upnyas kam he
download ki smsya he
ms word me file hone se kam pageo
me print ho sakti he
azad anil

Sushrut Chauhan on 8/10/12 2:33 pm ने कहा…

there is one more book which i have been searching for many months now its name is Himalaya Parichaya-Garhwal by Rahul Sankrityayan (Volume 1 and 2, Illahabad, 1953 but have not been able to find out. can anyone help me with it????
thanks in advance.........

Vivek Trivedi on 23/8/13 8:02 pm ने कहा…

ye book download nhi ho rhi hai

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियां हमारी अमूल्य धरोहर है। कृपया अपनी टिप्पणियां देकर हमें कृतार्थ करें ।

Blogger Tips And Tricks|Latest Tips For Bloggers Free Backlinks

Deals of the Day

Related Posts with Thumbnails

लिखिए अपनी भाषा में

 

ताजा पोस्ट:

लेबल

कहानी उपन्यास कविता धार्मिक इतिहास प्रेमचंद जीवनी विज्ञान सेहत हास्य-व्यंग्य शरत चन्द्र तिलिस्म बाल-साहित्य ज्योतिष मोपांसा देवकीनंदन खत्री पुराण बंकिम चन्द्र वीडियो हरिवंश राय बच्चन अनुवाद देशभक्ति यात्रा-वृतांत दिनकर प्रेरक यशपाल विवेकानंद ओ. हेनरी कहावतें धरमवीर भारती नन्दलाल भारती ओशो किशोरीलाल गोस्वामी कुमार विश्वास जयशंकर प्रसाद महादेवी वर्मा संस्मरण अमृता प्रीतम जवाहरलाल नेहरु पी.एन. ओक रहीम रांगेय राघव वृन्दावनलाल वर्मा हरिशंकर परसाई ग़ालिब अज्ञेय इलाचंद्र जोशी कृशन चंदर गुरुदत्त चतुरसेन जैन भारतेन्दु हरिश्चन्द्र मन्नू भंडारी मोहन राकेश रबिन्द्रनाथ टैगोर राही मासूम रजा राहुल सांकृत्यायन शरद जोशी सुमित्रानंदन पन्त असग़र वजाहत उपेन्द्र नाथ अश्क कालिदास खलील जिब्रान चन्द्रधर शर्मा गुलेरी तसलीमा नसरीन फणीश्वर नाथ रेणु

ताजा टिप्पणियां:

अपनी हिंदी - Free Hindi Books | Novel | Hindi Kahani | PDF | Stories | Ebooks | Literature Copyright © 2009-10. A Premium Source for Free Hindi Books

;